भाई बाहें का हवसी प्यार और चुदाई

हे मी नामे इस माया, सेक्सी स्लिम, हाइलाइटेड हेर, 34सी बूब्स आंड मस्त गंद और वर्जिन. हन जब विगिन थी तब की बात है. मेरे कुछ दोस्त सेक्स कर चुके है और वीडियो भी बना चुकी है जो मुझे दिखती थी. कभी कभी तो अजीब लगता मगर फिर एग्ज़ाइटेड फील भी करती.

मई मासन थी और मास्टरबेट भी नही करती थी. फिर घर आई तो कोई था नही तो मई नहाने चली गयी. अपने बूब्स न गंद आंड छूट को रब करते हुए मज़ा लेते हुए नहाने लगी. मई टवल लपेट कर निकली तो सामने भैया आ गये. मई दर्र के भागी तो अचानक टवल फस के निकल गया और भैया के सामने मई नंगी हो गयी.

भाई खड़े घूर के देखने लगा. मई कुछ सेक कुछ नही की फिर टवल लेकर भाग गयी. भैया पीछे मूड के मुझे भागता देख र्हे थे. मीन्स मेरी नंगी गांद, वैसे मेरे 2 भाई है एक बड़ा और एक कुछ साल छोटा मेरे से.

भैया का नाम नीतीश और छोटा भाई का नाम अवी.

रात का समय हो गया था और मई सोने चली गयी, रात मे मुझे मेरे रूम मे किसी की आने की आहत लगी. मई दर्र गयी, मुझे लगा कोई चोर्र आ गया है.

वो मेरे पास आया और मुझे हिला के देखा की मई सो तो नही गयी. मैने कुछ रेस्पॉन्स नही दिया, फिर उसने मेरे बूब्स को दबाते हुए मुझे हिलाया. मैने फिर भी कोई रेस्पॉन्स नही दिया. अगर जाग जाती तो टा नही क्या करता. फिर वो मेरे बूब्स पर हाथ फेरने लगा. मई बिना ब्रा पहन के सोती हू अनकंफर्टबल होता न तो लूस टॉप पहन लेती हू.

फिर उसने हाथ अंदर डाल के मेरे बूब फील करने लगा और ढेरे से दबाने लगा. उसका दूसरा हाथ मेरे पनटी मे जा रा था. वो मेरे छूट को महसूस कर रा था. फिर उसने अपना हाथ मेरे बूब्स से हटाया और मूठ मरने लगा. उसका एक हाथ मेरी पनटी के उपर था और दूसरा उसके लंड पर. थोरी देर बाद उसका शायद निकल गया होगा और वो चल गया.

अगले दिन मई खाने गयी, भैया वही थे तो मैने उसे देखा और वो देख के स्माइल दिए. मई भी स्माइल कर दी फिर स्कूल गयी.

और कहानिया   कैसे मैने कोमल को चोद

स्कूल मे नॉर्मल सब सेक्स की बातें. बातरूम मे पॉर्न देख के मास्टरबेट नॉर्मल था. मई नही करती ये सब तो कोई मुझे बोलता भी नही सो फिर आ गयी घर. डिन्नर किया होमवर्क बनाई और छोटे भाई की मदद की फिर सोने चली गयी.

थोरी देर बाद मेरे छूट मे कुछ महसूस हुआ, वो लड़का फिर आ गया था. मुझे एग्ज़ाइटेड फील हो रा था और मई चुप रही. फिर थोरी देर बाद वो चला गया.

अब ये रोज का हो गया था फिर धीरे धीरे वो कुछ आयेज भदने लगा. अब वो टॉप उपर करके आचे से मेरे बूब्स का मज़ा लेने लगा फिर मेरे शॉर्ट को भी उतारने लगा.

फिर वो बूब्स को मूह मे लेने लगा और वो अपना लंड निकाल के मेरे जिस्म मे टच करने लगा. कवि बूब्स, छूट फिर उसने अपना लंड मेरे लिप्स पर रख के हल्का रब किया. मूह बंद था मेरा वरना वो अंदर भी डाल देता. उसका प्रेकुं मेरे लिप्स पर लग गया था जिसे सॉफ भी नही कर स्क्ति. वो मेरे बॉडी से खेल ही रा था फिर वो चला गया. मेरे ध्यान से निकल गया और मई लिप्स लीक की. मुझे प्रेकुं का टेस्ट आ गया जो बुरा नही था ब्स स्टिकी था तो मई आचे से लीक कर गयी.

नेक्स्ट दे..

मई चाहती थी वो मेरे लिप्स पर फिर से रख दे. मई रात होने का वेट करने लगी और मई हल्का मूह ओपन करके रखी या शायद ऐसे ही सो गयी थी.

वो आया और मेरे बूब्स, छूट के साथ खेलने का बाद लंड रब करने लगा. फिर वो मेरे लिप्स मे रब करने लगा और उसने मेरे मूह मे लंड डाल दिया तो मई चोक होने लगी और उठ गयी.

वो बोला माया… मई साँझ गयी ये भैया है, तो मेने बोला भैया… वो दर्र गये और तुरंत रूम से बाहर चले गये.

मुझे साँझ जाना चाहिए था ये और कोई नही भैया ही होंगे, वरना कोई चोर्र थोरी डेली डेली आएगा. मई भी बाकची थी कुछ भी सोच ली थी. बुत अब साँझ गयी थी ये और कोई नही भैया थे.

3वीक तक मज़ा लिया उसने मेरा. अब मई सोच मे पड़ड़ गयी की वो अब ऐसा नही करेंगे, क्यूकी अब मुझे भी अछा लगने लगा था वो सब.

और कहानिया   भाई ने मुझे रंडी बनके चोदा

फिर एक दिन मई उसके रूम मे गयी तो देखा की वो मूठ मार रा था. मुझे देख के पंत उपर किया और बोला सॉरी अब से ऐसा नही करूँगा. मई बोली इधर आओ. वो बेड से उतार के आया.

वो लंड ठीक करने का कोशिस किया बुत वो टेंट दिख रा था. तो वो बोले प्लीज़ मों दाद को मत बोलना. मई बोली ठीक है नही बोलूँगी. फिर मई नीचे झुकी और उसका पंत भी नीचे किया.

लंड मेरे सामने था और उसे मई टच करने लगी. वो कुछ नही बोल रा था, फिर मई उसके लंड को अपने मूह मे डाल ली और चूसने लगी. भैया को मज़ा आ रा था इसलिए वो मुझे रोके नही.

मई पहली बार लंड चूस रही थी, मुझे आज सेक्स का नशा था तभी पहली बार इतनी हिम्मत करके ये की थी. थोरी देर चूसने के बाद भैया का मूठ मेरे मूह मे निकल गया. थूकने की कोई जगह थी नही तो मई सारा निगल गयी.

फिर मई भैया का लंड छत कर सॉफ की और उठी और जाने लगी और बोली आपको जो मॅन है आकर कर लेना मई किसी को नही बोलूँगी.

ये बोलते ही भैया मेरे उपर टूट पड़े और मेरे बूब्स दबाने लगे और फिर मुझे नंगा कर दिया. उसके बाद मेरे बूब्स को चूसने लगे और उनका हाथ मेरे छूट को रुब्ब कर रा था.

मई जोश मे आने लगी, भैया ने मुझे बेड मे लेता दिया और बूब्स आराम से चूसने और चाटने लगे और साथ ही साथ छूट रब करने लगे. धीरे धीरे वो अपना मूह नीचे करने लगे और मेरी छूट को चाटने लगे. वो कुत्ते की तरह मेरी छूट चाटने लगे.

म्न्‍न्मम मुझसे रहा नही जेया रा था.

वो जीभ मेरे छूट के होल मे ले जेया कर वाहा चाट र्हे थे जिससे मुझे बहुत मज़ा आ रा था. फिर भीयया का लंड फिर से खड़ा हो गया था. अब इश्स बार भैया मेरे बूब्स के बीच मे लंड रख के मेरे बूब्स से लंड को दबाए और मेरे बूब्स को छोड़ने लगे. क्या मज़ा आ रा था मई आहह म्हममम की आवाज़ें निकाले लगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.