बेबस नागपुर की लेडी को नयी ज़िंदगी दी

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम अतुल है. मई नागपुर का रहने वाला हू. मेरी आगे 20 साल है, हाइट 5. 5, देखने मे गोरा आंड स्मार्ट. सो ज़्यादा टाइम वेस्ट ना कटे हुए शुरू करते है.

लॉक्कडोवन् की वजह से मई बोर हो रहा था और दिन भर मोस्ट्ली सोता रहता था. यह कहानी एक महीने पहले की है. काई बार बस हाथ से काम चला लेता था और पॉर्न देखके या सेक्स स्टोरीस पढ़के अपनी पिचकारी मरता रहता था.

एक दिन मई बहोट बोर हो रहा था तो एक सेक्स साइट पे गया. वाहा लोगो के साथ सेक्स छत करने लगा और काई लड़कियो के साथ सेक्स छत करके मज़ा कर रहा था. फिर मुझे एक 36 यियर्ज़ की एक लेडी मिली.

हुँने बात करना स्टार्ट किया. वैसे बता डू मई एक अकचे घर से हू और सिंगल हू तो आप जान ही सकते है शरीर मे कितनी गर्मी रहती है. सो हमारी एक दूं नॉर्मल बाते शुरू हुई. और हम एक दूसरे की लाइफ के बारे मे पूछने लगे.

इससे मुझे टा चला की उनका कोई बाकचा नही है आंड उनके हज़्बेंड एक साइट मॅनेजर है. तो कभी भी बाहर ही रहते है. शुरुआत मे मेरे कोई ग़लत इरादे नही थे.

फिर हुँने बाते की और मई काफ़ी मज़किया हू और रोमॅंटिक 3-4 लाइन्स लीखता हू. बाते करते करते उन्होने मुझे पूछ लिए तुम काफ़ी अकचे लगते हो, तुम्हारी गफ़ नही है क्या??

इस्पे मैने कहा नही और कहा ही आजकल मेरी आगे की लड़किया ज़्यादा पसंद ही नही आती है. हुमारी बाते 3 घंटे चली और मुझे उनका बात करना बहोट पसंद आया. अचानक उन्होने कहा चलो फिर, बाइ!!! मुझे पता नही क्यू मायूसी हुई. तो मैने कहा “माँ, मुझे आपसे बात करना बहोट अक्चा लगा. क्या अप मुझसे बात करेगी??”

उसपे उन्होने दो मिनिट कोई जवाब नही दिया. उसपे मुझे लगा शायद उन्हे यह सब पसंद नही होगा. तो मैने अचानक उन्हे अपना नंबर सेंड कर दिया और कहा की अगर आपको बात करनी हो तो फ्रीली मुझे व्हटप्प कर सकती है.

उसके बाद मेरी ज़िंदगी ऐसे ही चल रही थी. फिर 4 दिन बाद मेरे व्हटप्प मे एक अननोन नंबर से मेसेज आया ही, कैसे हो. मैने बात करना शुरू किया तो पता की यह वो आंटी है. फिर मैने उनका नाम पूछा तो पता चला उनका नाम, स्नेहा था. फिर हम छत करने लगे. और मुझे उनसे बात करना बहोट अक्चा लग रहा था.

हुमारी दोस्ती हो गयी और हम एकद्ूम फ्रीली बाते करने लगे. फिर मैने अचानक से पूछ लिया, “स्नेहा, आपको बेबी क्यू नही है. ”

यह सुनके अचानक वो ऑफलाइन हो गयी. मेरे मेसेजस का कोई जवाब नही आ रहा था. अगली सुबह उनका ही आया. फिर हुँने वीडियो कॉल किया और यह पहले वीडियो कॉल था. इससे पहले हुँने सिर्फ़ चट्स की थी. मई उनको देखता ही रह गया. सच मे बहोट खूबसूर्त लग रही थी. हम एक दूसरे की तारीफ़ करने के बाद बाते करने पेज और बाद मे छत पे मैने उनको सॉरी कहा.

और कहानिया   पडोसी का लुंड एक दम मस्त

उन्होने कहा इट’स ओक और फिर रीज़न बताया की उनके पति बाकचा नही कर सकते. और उन्हे भी बाकचा छाईए पर अब कुछ नही हो सकता. उस दिन मैने स्नेहा के बारे मे सोच मे 3 बार मूठ मारी.

बस हुमारी दोस्ती के उपर हम बढ़ने लगे और आगे गॅप मानो गायब सी हो गयी. एक दिन मैने उन्हे ई लोवे योउ कह दिया और उन्होने भी झट से मुझे मे टू कहा. फिर स्नेहा ने जो कहा उसी मेरी आखें फॅट गयी. उसने कहा” अतुल, क्या तुम मुझे प्रेग्नेंट कर सकते हो?”

मई चोकक गया और कारण पूछा. उन्होने कहा ही उनकी सास नही मान रही है और उन्हे लगता है कारण मुझमे ही है. मैने भी झट से उन्हे हा कहा. दोस्तो यहा तक तो रोमॅन्स था.

अब मई खुल गया और स्नेहा से सेक्स छत और गंदी बाते करने लगा. फिर हम दोनो मिलके न्यूड वीडियो कॉल करते आंड वो मुझे अपने डाउड्स भी डीकती जिससे मेरा दिल बेकाबू हो जाता.

आप को स्नेहा मे बारे मे बताता हू. वो एक 36 यियर्ज़ की सेक्सी सी लेडी थी. उसका फिगर 34-32-36 जैसा था. गोरा बदन बड़े बाल, हाइट:5 फुट 4 इंच. देखने मे एकद्ूम माल लग रही थी.

हम सेशन्स करने लगे, उसके हर एक बॉडी पार्ट को देखके मई हिलता और अब हुँने डिसाइड किया की आयेज बढ़ना होगा.

एक दिन स्नेहा ने मुझसे कहा ही इस सनडे से ट्यूसडे तक मेरे पति बिज़ी रहेंगे, क्या तुम आ सकते हो. मैने झट से हास कर दी. प्लान के हिसाब से मॅज उसके घर पॉच गया. मैने उसके घर की बेल बजाई और उसने मुझे अंदर ले लिया.

हम साथ मे बैठ के जूस पीने लगे और उसने मेरे हाथ पर हाथ रख दिया. मई भी मूड मे था, मैने भी उस अपनी और खीचके उसके होतो को चूसना शुरू किया. यही हम 15 मिनिट तक करते रहे और फिर हम अलग हुए.

उसने कहा : अतुल, तुम सछमे बहोट बढ़िया किस करते हो.

मई: सामने इतनी खूबसूर्त सी औरत होगी तो भला कों अपने आप को काबू कर लाते.

फिर उसने मुझे मेरा अड्वान्स थमाया और कहा मुझे बाकचा दे दो.

वो मेरा हाट पकड़ के रूम के ले गयी और गाते लॉक कर दिया. मई भी उससे पकड़ के किस करने लगा. क्या बतौ यार क्या आग लग रही थी मान मे.

ओह वैसे बताना तो भूल ही गया था उस दिन स्नेहा ने ब्लॅक सारी और रेक ब्लाउस पहना था. क्या लग रही थी वो आहह. उसके निपल्स ब्लाउस के उपर आने की कोशिश कर रहे थे और उसकी गांद के कुवर्व्स, सो सेक्सी.

और कहानिया   माँ की सेक्सी सहेली

मई उसकी पीठ को किस करते करते गले पे किस करने लगा और सारी को उतरने लगा. सारी का पल्लू नएचए गिरते ही उसकी कमर के हाथ डालके मसालने लगा. फिर उससे मेरी और पलटाके और किस करने लगा और उसकी गांद को दबाने लगा.

हम दोनो गरम हो चुका थे और उसने मेरी शर्ट उतार के फेक दी. मई भी उसकी सारी निकल दी और झट से उसका ब्लाउस खोल दिया और पेटिकोट भी खोल के नीचे ले आया. वो अब मेरे सामने बस ब्लॅक ब्रा और पनटी मे थी. उससे देखके मई पागल हो गया.

अब उसने भी मेरी पंत उतार दी और मई सिर्फ़ अपने अंडरवेर मे था. मई उससे दीवार पे सता दिया और स्नेहा की पीठ को चूमने लगा, उसकी सासे तेज़ हो रही थी. अब मई उसके गले से होते हुए, पीठ और उसकी गांद को चचते हुऊए नीचे जा रहा था. वो अपने हाथ से अपने बूब्स को मसल रही थी. फिर मई उससे बेड पे ले गया और उसके बूब्स दबाने लगा. एक हाथ बूब्स पे और दूसरा उसके गांद पे.

हम दोनो मज़ेले रहे थे. अब मैने उसकी ब्रा निकल दी और पनटी भी निकल मे फेक दी, उसने भी मेरी अंडरवेर निकल दी. क्या लग रही थी वो, इतनी गोरी और सुंदर औरत और कमरे मे लाइट उसपे पढ़ रही थी. उसके पसीने से वो और ज़्यादा अट्रॅक्टिव दीख रही थी. उसने अपनी छुउट शेव की थी और वो इतनी लज़ीज़ देख रही थी की मई अपने आप जो रोक नही पाया और सीधा नीचे छूट पे लप्क पड़ा.

बाहर से हल्की सी काली छूट और अंदर से पिंक सी, मई उसकी छूट को सूंघने लगा. अपनी उंगलिया उसकी छूट की चंदे पे घुमा रहा था और अपनी उंगली से उसके दाने को हिला रहा था. वो भी काप रही थी और सिसकारिया ले रही थी

स्नेहा: आ अतुल, तुझे जो करना है कर. बहोट अक्चा लग रहा है. करता जेया और कर..

यह सुनके मैने अपनी जीभ उसकी छूट मे घुसा दी और उससे चाटने लगा. वो भी मेरे सिर को और अंदर ले जा रही थी और अपनी जाँघो के बीच मे दबा ली. मई छाते जा रहा था, अंदर बाहर कर रहा था.

स्नेहा भी बोले जा रही थी: आज मुझे प्रेग्नेंट करना ही होगा, करता जा और कर आअहह यह मज़ा और.. और.. और कर…

मैने अपनी चाटने की स्पीड बढ़ा दी और उसके बूब्स के निपल्स को खीच रहा था, उसके चेहरे के एक्सप्रेशन्स बहोट सेक्सी थे, वो निकहर आए हाई.

अब मैने अपनी एक उंगली उसकी छूट मे घुसा दी और ज़ोर से रगड़ना चालू कर दिया, इससे उसके मूह से निकल पड़ा आअहह आहहहह.. आअहह.. आ.. आहह.. आअहह.. बस इसके साथ ही उसने मेरा मु अपनी छूट मे ले लिए और झाड़ गयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.