बड़ी दीदी की चूत की सील मेरा लुंड ने थोड़ा

एह उन दीनो की बात है .जब मेरी उम्र 16 की थी. हम एक जॉइंट फॅमिली मे रहते थे. मेरी एक कजिन जो के मुझसे 4 साल बड़ी थी. मैं उनको दीदी कहता था. हम आपस मे बहुत फ्रॅंक थे.
एक दिन मैं बाहर से आया और सीधा दीदी क कमरे मे चला गया.वहाँ पर मैने देखा क दीदी आँखें बंद करके बेड पर लेती हुई है और उनका एक हाथ उनकी सलवार के अंदर है. मेरे कुछ समझ मे न्ही आया तो मैने पुचछा “दीदी! क्या कर रही हो?” वो फ़ौरन उठी और मुझे दाँत कर बाहर निकल दिया तो मैं अपने रूम मे चला गया और अपने बेड पर लेटकर सोचने लगा क दीदी को क्या हुवा है? अगले दिन मेरी फॅमिली को दोसरि सिटी शादी मे जाना पड़ा.और मैं जा ना सका क्यों क मेरे पेपर होने वेल थे. मुझे दीदी क हवाले कर दिया और उसे कहा क मेरा ध्यान रखे. वो चले गये.
शाम को मैं स्कूल से आया और सीधा अपने रूम मे चला गया. थोड़ी देर बाद दीदी मेरे रूम मे आई मैं उस से नाराज़ था उसने मुझे सॉरी कहा और खाना लगा दिया. मैने खाना खाया और अपने रूम मे पढ़ने चला गया. मैं देर रात तक पढ़ता रहा.
करीब 11पीयेम दीदी अपना बिस्तर मेरे रूम मे लेकर आई और बोली “लकी! मैं भी तुम्हारे साथ ही सौंगी.” मैने ओक कहा तो उन्होने अक़्ना बिस्तर मेरे बेड पर ही लगा दिया और मुझसे बोली “लकी! बहुत देर हो गयी अब सो जाओ.” मैने अपनी बुक्स रखी और अपने बिस्तर मे आ गया. दीदी लाइट बंद कर के आकर मेरे पास लेट गयी. मैं बोला “दीदी मैं आपसे कुछ पुच्छना चाहता हूँ. दीदी बोली “क्या पुच्छना है पुच्च्ो”.मैं बोला “दीदी कल आप क्या कर रही थी?”
दीदी बोली “कुछ न्ही”
मैं बोला दीदी बताओ तो प्ल्स क्या आपको दर्द हो रहा था? मुझे भी जब पी ज़ोर का आता है तो दर्द होता है.
दीदी बोली हन मुझे दर्द हो रहा था.
मैने कहा दीदी जब मैं सहलाता हूँ और मालिश करता हूँ तो आराम मिल जाता है.
दीदी ने पुचछा “किसको सहलाते हो?” मैने कहा अपनी पी वाली जगह को अगर आपको दर्द है तो क्या मैं मालिश कर डून? सुनकर दीदी ने कुछ ब जवाब ना दिया तो मैने फिर पुचछा तो बोली ओक कर दो.

मैने अपना हाथ उनकी चूत पर रखा तो मुझ मे एक अजीब सी लहर उठी. दीदी ने पुचछा क्या हुआ?
मैने कहा कुछ नही.मेरा दिल कर रहा था क मैं दबाता ही जाऊं अचानक मेरे पयज़ामे मे कुछ होने लगा मैने कहा दीदी मेरे पयज़ामे मे कुछ हो रहा है. दीदी ने कहा क्या हो रहा है मुझे दिखाओ मैं देखती हूँ और पयज़ामे क उपर से ही मेरा लंड पकड़ कर सहलाने और रगड़ने लगी फिर कुछ सेकेंड क बॅया बोली “लकी मज़ा आ रहा है ना?”
मैने कहा हन बहुत मज़ा आ रहा है.

और कहानिया   बहन बानी मेरी लुंड की दीवानी

दीदी ने कहा ये तुमको बहुत तकलीफ़ देगा इसको अपने पयज़ामे से बाहर निकालो मैं इसको ठीक करती हूँ तो मैने पयज़ामा उतार दिया तो दीदी ने कहा अब तुम लेट जाओ और अपने हाथ से मेरी पी वाली जगह(पुसी)को सहलाओ और मैं इस का इलाज करती हूँ मैं लेट गया तो दीदी ने मेरा लंड अपने हाथ मे ले लिया और अपना मुँह पास लाकर किस किया तो मेरे मुँह से आ निकल गयी ऐसा मेरी लाइफ मे पहली बार हो रहा था और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और मज़ा भी ऐसा आ रहा था क मैं बता न्ही सकता मैने पुचछा दीदी ये क्या कर रही हो?
दीदी ने कहा इसको बिता रही हूँ. ई साइड ओ क और अचानक दीदी ने मेरा लंड अपने मुँह मे ले लिया और अपना मुँह उपर नीचे करने लगी मुझे मज़ा आ रहा था और आहिस्ता आहिस्ता मेरी आइज़ बंद होनी लग गई.
अचानक मुझे ऐसा लगा जैसे मुझे पेशाब आने वाला है और मैने वो दीदी के मुँह मे कर दिया. वो अकटुली मेरा सीमेन था जो दीदी क मुँह मे था और दीदी ने सारा पी लिया था.
मैने कहा दीदी अपने मेरा पेशाब पी लिया है. दीदी ने कहा न्ही मैने तुम्हारा कम पिया है.
मैं कहा वो क्या होता है?
अभी बताती हूँ कहकर दीदी ने मेरी शर्ट उतरी और अपने कपड़े भी और लेट गयी और बोली अब मेरी पी वाली जगह जिसे पुसी कहते हैं को चतो
मैं पुसी को चाटने लगा उनकी पुसी देख कर तो मैं हैरान रह गया पहली बार जो किसी क पुसी देख रहा था बहुत प्यारी पुसी थी. मैं पुसी को छत रहा था वो पागल होई जा रही थी अपने मुँह से अजीब सी आवाज़ निकल रही थी उूुुुुुउउफफफफफफफफफफफ्फ़ आआआआआहह हहुउऊुुुउउम्म्म्मममम ज़ोर ज़ोर ज़ोर चतो
अचानक उस की पुसी से वाइट सी चीज़ निकली तो उसने कहा इस को पी जाओ इस को कम कहते हैं मैं उसको पी गेया वो कुछ सालती सा था लेकिन मज़ेदार था.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares