बारिश में बीवी की गांड चुदाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम रवि है और आज दिल्ली में बारिश का मौसम बना हुआ है! तो इसी मौसम से मुझे अपनी बीवी के साथ पहली बार मस्त गांड चुदाई याद आ गयी!

मेरी शादी को दो साल हो गए सब बढ़िया चल रहा हैं और हम हर रात सेक्स करते हैं!

ये बात बीवी की गांड चुदाई 6 महीने पहले की हैं जब मेरी बीवी ने मुझसे कहा की तुम अपनी एक सेक्सुअल फैंटसी(इच्छा) बताओ और बदले मे तुम मेरी सेक्सुअल फैंटसी पूरी करना !

तो मैंने उसे बताया की मुझे Anal Sex मतलब गांड चुदाई करनी हैं! तो वो मुस्कुराने लगी और कहनी लगी डिमांड तो बड़ी करी हैं आपने बदले में मैं भी बड़ी डिमांड करुँगी!

उसने मेरे सामने चूत और गांड चाटने की डिमांड रखी आप सब के लिए ये बड़ी बात न हो पर मैंने कभी चूत नहीं चाटी!

जवानी से ही किसी ने मेरे मन में चूत चाटने को लेकर नफरत भर रखी थी! इसीलिए मैंने अपनी बीवी के साथ भी कभी Oral Sex मतलब मुँह से सेक्स नहीं किया!

मेरी बीवी को चूत चटवाना पसंद था तभी उसने ये शर्त रखी थी! तो मैंने सोचा यार गांड मिल रही हैं कोशश करलेता हूँ एक बार!

तो मैंने रात का प्लान बनाया रात होते ही बारिश का मौसम हुआ और मैं अंदर बैडरूम में गया तो वंहा मेरी बीवी पहले से गांड पर तेल लगाकर बैठी थी!

अरे भाई क्या सीन था वो उसने मुझे इशारे से बुलाया और मैंने कपड़े उतार लिए और सीधा उसकी गांड मारने जा रहा था!

जैसे ही पास गया उसने गांड घुमाकर बैठ गयी और टाँगे खोलकर चूत दिखाने लगी!

मैं समज गया गांड चुदाई के लिए पहले चूत चटाई जरुरी हैं!

तो मैंने पहले उसकी किस ली ताकि मूड बन जाए और धीरे धीरे मैं उसके शरीर के हर हिस्से को चूमता रहा!

और कहानिया   सानिया की गांड मारी पडोसी ने

उसके निप्पल खड़े हो चुके थे और मैंने उन्हें चूसना शुरू कर दिया था! बहुत मजा आ रहा है बहार बारिश और बिजली कड़क रही थी!

मैं अब उसके पेट के नाभि पर था और उसे चुम रहा था और जीभ भी फेर रहा था!

अब मैं मदहोश था और मैंने धीरे से उसकी चूत को चूमा मुझे अच्छा लगा उसने क्रीम लगाई थी ताकि स्वाद और खुसबू आये और मैं आराम से चूत चाट लू!

मैंने एक बार जीभ फेरी दो बार फेरी और फिर तो मैं पागल हो गया मैनें जीभ अंदर बहार डालना शुरू कर दिया मुझे मजा आने लगा!

मैं चूत’ से कब गांड के छेद पर चला गया मुझे पता भी नहीं चला मुझे इतना मजा आने लगा मैंने उसकी गांड पर दांतो से काट लिया!

अब मेरा पूरा मन हो चूका था मैंने लंड को गांड में डालने से पहले उसे गिला करवाया वो भी लंड चुसवाकर!

जब मेरा लंड गिला हुआ तो मैंने उसकी गांड के छेद पर लंड रखा उसने तेल लगाया हुआ था!

मैंने हल्का सा डाला और मेरा लंड बड़े प्यार से गांड की गहराई में चला गया बीवी दर्द से करहा रही थी पर शर्त तो शर्त हैं!

मैंने बूब्स को हाथो में लिया गांड में लंड दाल दिया और उसकी मुंडी टेडी करके उसके होंठ चूमने लगा!

किस में उसे मजा आ रहा था और इसी मजे का फायदा उठाते हुए मैंने उसकी गांड में डाले हुए लंड को अंदर बहार डालना शुरू कर दिया!

धीरे धीरे बीवी को भी मजा आने लगा वो अपनी गांड को आगे पीछे करती रही और चुदती रही!

मैंने भी गांड चुदाई के झटके जोर जोर से मारना शुरू कर दिया और पुरे मजे लेने लगा!

बारिश तेज हो गयी और मैंने भी गति तेज करदी चुदाई की बिजली कड़की और मेरा पारा फटने वाला था मतलब सारा माल निकलने वाला था!

आखिर में इतनी गरम चुदाई के बाद सारा माल गांड में निकल गया और जब मैंने लंड बहार निकला तो गांड के छेद से मेरा माल टपक रहा था!

दोस्तों ये थी मेरी कहानी उम्मीद हैं बारिश के मौसम में आपका भी मूड बना दिया होगा!

Leave a Reply

Your email address will not be published.