आंटी जी की सेक्स स्टोरी

ये कहानी का भाग 2 हैं भाग 1 पढ़ने के लिए आप Aunty Sex Story – 1 – पर जाए!

जब नितिन बार बार ऐसा करने लगा तो आंटी ने उसे टोक दिया और फिर नितिन ने ऐसा करना बंद कर दिया।

तो आंटी सोचने लगी की अगर यह कुछ नहीं करेगा तो उसकी चुत की खुजली कैसे मिटेगी।

फिर कुछ देर ऐसे ही बात करने के बाद आंटी ने उसे बार बार छूना शुरू कर दिया तो नितिन समझ गया की आंटी का मूड भी हॉर्नी है।

तभी आंटी ने उसके हाथ पर ताली देने के लिए हाथ बढ़ाया तो नितिन ने उसका हाथ पकड़ लिया और आंटी को बहुत गन्दी और हवस भरी नज़रो से देखने लगा।

आंटी अभी उसकी आँखों में देखने लगी और नितिन आंटी के बहुत करीब आ गया।

उसके आंटी को कमर से पकड़ा और अपने ऊपर खींच लिया।

वो पलंग पर लेट गया था और आंटी को अपने ऊपर खींच के उसे होठो पर चूमने लगा।

आंटी भी उसके होठो का सारा रास पी रही थी और उसके साथ हवस की नदी में गोते लगा रही थी।

तभी नितिन ने आंटी के ब्लाउज को खोलना शुरू कर दिया और जैसे ही उसका हुक खुला नितिन ने आंटी के ब्लाउज को पूरा उतार दिया।

फिर आंटी की टाइट ब्रा में से उसके दोनों बूब्स बाहर आने के लिए तड़प रहे थे और नितिन ने उसके बूब्स को पहले चूमा और फिर उसकी ब्रा खोल दी।

आंटी भी उसके लंड को पाजामे के ऊपर से ही मसलने लग गयी और फिर आंटी ने उसके मोटे और सख्त लंड को पाजामे से बाहर निकल दिया।

उसके गरम लंड ने आंटी के पुरे हाथ को गरम कर दिया था और आंटी बस उसके लंड अपनी गीली और गहरी चुत में लेने के लिए तड़प रही थी।

नितिन लगातार उसे चुम रहा था और उसके बूब्स को दबा रहा था।

और कहानिया   विधवा शीला का पंडित जी के सात चक्कर

आंटी के गुलाबी निप्पल्स ने नितिन को पागल क्र दिया था वो बार बार आंटी के निप्पल पर काटता और जैसे ही आंटी चिल्लाती तो उसे छोड़ देता।

आंटी भी नितिन की आँखों में आँखे डाल के उसे देखके उसके लंड को मसलती।

जब नितिन के लंड की गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ गयी तो उसने अपने लंड को पकड़ा और आंटी की चुत पर पहले तो ऊपर से मसला और फिर धीरे से उस पर ज़ोर देके अंदर घुसाने लगा।

जब नितिन को लगा की उसे आंटी की चुत का छेद मिल गया है तो उसने अपने आठ इंच मोटे लंड तो एक झटके से आंटी की चुत में डाल दिया।

आंटी की चींख निकल गयी और आंटी चिल्लाने लगी।

पहले तो नितिन थोड़ा दर गया लेकिन फिर जब आंटी ने उसे बोला की और ज़ोर से हिला तो नितिन बिना कुछ सोचे आंटी की चुत दबा के मारने लगा।

आंटी उसके मोटे और सख्त लंड को लेकर बहुत खुश थी और नितिन भी उन्हें हर एक झटके में संतुष्ट कर रहा था।

आंटी ने इस से पहले इतने अच्छे से Sex कभी नहीं करा था।

आंटी को चरमसुख का एहसास होने लगा था और नितिन ने भी इतनी टाइट और मुलायम चुत पहले कभी नहीं मारी थी।

आंटी की गुलाबी चुत ने उसके लंड को और जयदा सख्त होने में मदद करी।

नितिन ने आंटी को पुरे आधे घंटे तक चोदा और उसकी चुत में से पानी निकाल कर आंटी को चरमसुख की प्राप्ति दी।

उस दिन नितिन के पास और भी बहुत मोके थे आंटी को दबा के चोदने के और उसके हर एक मौके का पूरा फायदा उठाया।

उसी दिन नितिन ने शाम को आंटी को दुबारा चोदने का मूड बनाया और ऊपर जाके एक बार फिर से आंटी को दबा के छोड़ा।

वही जब रात की बात आयी तो नितिन और आंटी ने एक दूसरे के साथ पूरी रात बितायी और बहुत हसीं पल बिताये।

और कहानिया   छोटी बहन को रात भर चोदा

उस दिन के बाद से नितिन और आंटी ने एक दूसरे के साथ हर बार सेक्स करा जब उन्हें मौका मिला।

लेकिन यह बात पूरी गली में फ़ैल गयी थी और आंटी के पति को भी पता चल गयी।

तभी नितिन और आंटी के पति के बीच एक लड़ाई हुयी जिसकी वजह से नितिन को वो फ्लैट छोड़ कर जाना पड़ा।

उसके जाने के बाद आंटी एक बार फिर से अकेली पद गयी थी लेकिन आंटी ज्यादा देर तक अकेली नहीं रही क्योकि आंटी को संतुष्ट करने के लिए मैं आ गया था।

तो जुड़े रहिये हमारे साथ जान ने के लिए की मेरी आंटी की Sex Story किस तरह से शुरू हुई।

आपको बस एक दिन का इंतज़ार करना है कल मैं फिर से लौटूंगा Aunty Sex Story Part 3 के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.