ऐसी भाभी सबको मिले

ये कहानी का को पूरा पढ़ने के लिए आप पहले ये हिस्सा पढ़े ऐसी भाभी सबको मिले – 1 तभी कहानी का मजा आएगा!

मैं भाभी का कमरे में आ गया, भाभी को लगा भैया हैं तो उन्होंने कहा लाइट बंद करदेना!

मैं चुपचाप लाइट बंद करके सो गया, मुझे हल्का बुखार था तो मैं चादर लेकर सो रहा था !

भाभी रात को उठी लाइट जलाई पता नहीं क्या कर रही थी मैं देख नहीं पाया क्युकी चादर लेकर मुँह पर सोया था!

भाभी ने टोंट भी मारी इतनी गर्मी में चादर कौन लेता हैं!

मैंने कुछ नहीं बोला बस सो गया, सुबह हो चुकी थी करीब 6 बजे मेरी नींद खुली क्युकी भाभी ने सारी चादर लेली थी मुझसे!

मैं हल्का होकर आया और वापिस कमरे में आकर कुण्डी लगाके सोने जा रहा था!

कमरे में रौशनी आ चुकी थी सवेरे से और ये मैं क्या देखता हूँ!

भाभी पूरी नंगी थी उनकी नंगी पीठ और चुत्तड़ मुझे साफ़ दिख रहे थे!

मेरी आंखे फ़टी की फ़टी रह गयी की ये मैंने पहली बार क्या देख लिया!

मुझे कुछ समज नहीं आया ये क्या हो रहा हैं, पूरा शरीर कपकपा रहा था दड़कन बढ़ गयी मेरी पहली बार में शायद सबको यही हुआ होगा!

मुझसे रहा नहीं गया मैं घबरा रहा था पर मेरे पास उस कमरे में उनके पास सोने का बहाना था की भैया ने भेजा था!

घबराहट भी हो रही थी, पर हिम्मत करके मैं उनके पास गया और ध्यान से उनकी गांड देखि!

उनकी नंगी कमर देखि, पर मेरा जी नहीं भरा तो मैंने धीरे से उनकी पीठ पर चुम लिया!

वो हल्का सा हिली तो मैं घबरा कर सोने की एक्टिंग करने लगा!

10 मिंट बाद मैंने आंखे खोली वो मेरी तरफ मुड़ी हुई थी उनके बूब्स और चूत पर चादर थी!

मैंने वो चादर खिसकाने की कोशिश करी , पर वो उठ जाती इसीलिए घबरा गया!

और कहानिया   पति फ़ौज में पत्नी मौज में

मैंने धीरे से उठकर कूलर कम करदिया ताकि गर्मी बढ़ जाए और वो चादर फेंक दे!

थोड़ी देर बाद ऐसा ही हुआ उन्होंने चादर फेंक दी और सीधी होकर सो गयी!

अब तक कमरे में पूरी रौशनी हो चुकी थी, मैंने भाभी को देखा ध्यान से पूरा नंगा!

मैं पहली बार किसी को इतने करीब से नंगा देख रहा था इतनी खूब सूरत थी वो!

चूत पर एक भी बाल नहीं था बूब्स बड़े और खड़े थे एकदम, और गांड तो मैं देख चूका था!

पहली बार लड़की को नंगा देख लिया सारे लड़कीओ के बॉडी पार्ट्स देख लिए!

फिर ऐसा लगा कोई जाग गया घर में और वो भाभी को उठाने के लिए दरवाजा नॉक करेगा!

मैंने फटाफट चादर उठायी और सो गया!

वो मम्मी थी दरवाजे पर भाभी को आवाजे मारी थोड़ी देर आवाज लगाने के बाद भाभी उठ गयी और कपड़े पहने और बहार चली गयी!

अब मुझे होने लगी घबराहट की भाभी को पता चल जायेगा वो मेरे साथ सोई थी और उन्हें याद ना आये की मैंने किस

किया था उसकी कमर पर! ये सब घबराहट की चक्कर में कुछ समझ नहीं आया!

सुबह हो गयी सब नाहा धो चुके थे, मैं भी नहाने गया था, थोड़ी देर बाद नहाकर बहार निकला तो देखा भैया भाभी कुछ बात कर रहे थे!

भैया कह रहे थे कल भी तुम लड़ रही थी इसीलिए तुम्हारे साथ नहीं सोया,

भाभी ने कहा रात को तुम्हारा भूत आया था!

भैया हसने लगे और बोले वो छोटे था मैं नहीं!

भाभी थोड़ा चिल्लाई क्या?

भैया ने कहा हां जी, भाभी ने कहा बताना चाहिए था न !

भैया न कहा क्यों बताना क्या है वैसे भी बच्चा हैं बुखार था उसे चुपचाप सो गया होगा!

भाभी ने कहा हां सो तो गया था बेचारा चादर मुँह पर लेकर सोया था और बोला भी नहीं की कूलर बंद करदो!

और कहानिया   उदास मर्द को कुश किया भाभी ने

भैया ने कहा हां ज्यादा टेंशन लेने लगा हैं पढ़ाई को लेकर इसीलिए बुखार आया!

भाभी ने कहा उसकी चिंता होती हैं ये गर्लफ्रेंड भी नहीं बनता इस उम्र में सबकी होती!

ये सब सुनकर मैं खुश हो गया चलो मैं बच गया और खुश हो गया!

इस कहानी का भाग 2 जो की “ऐसी भाभी सबको मिले – 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.