दुकान मे आई लड़की की चुत मार क्व भेजा

हे फ्रेंड्स, मैं राज, मुंबई से हूँ और 24 साल का हूँ. आज आपके लिए मेरी तरफ से एक कहानी है . जो की एक दम साची और एक दम मस्त कहानी है. तो बिना किसी देरी के मैं आपको अपनी कहानी पर ले कर चलता हूँ. मैं अपने बारे मे भी बीटीये डून की मैं एक दम हटता कटता इंसान हूँ और काफ़ी गुड लुकिंग हूँ.

तो चलिए बिना किसी देरी के खानी पर चलते है.

ये बात आज से कुछ ही सन्एे पहले की है. मैं अपने घर पर था और आराम से बेत कर यव देख रा था. मुझे टीवी देखना बहोट ही ज़्यादा पसंद है तो मैं सारा दिन जब भी फ्री होता हूँ तो मैं बस टीवी ही देखता रहता हूँ.. मैं अधिकतर मूवीस ही देखता हूँ बेशक वो हॉलीवुड हो या बोल्लयऊूद. मैं उस दिन भी मोविए देख रा था और आराम से बेता हुआ था और तभी मुझे अपने घर की डोर बेल बाजी तो मैं उठ कर दरवाजा खोलने के लिए निकला तो जेसे ही मैने ह्सी दरवाजा खोला तो वॉया पर एक लड़की खड़ी थी. वो लड़की बहोट ही सुंदर थी और वो ड्रेस मे थी. वो य्चा पर फिनायल की बॉटल बेचने आई थी. उसने पहले तो मुझे सब कुछ उस प्रॉडक्ट के बारे मे ब्टाया पर मैने उसे लेने से माना कार्डिया. तो वो अब जाने लगी पर एक दम से रुक गयइ. और कहने लगी की पानी पिलडो तो मैने उसे हाँ खा और अंदर आने को खा. वो भो एकदम से अंदर आ गयइ और फिर सोफे पर आ कर बरथ गयइ. अब मैं जेसे ही पानी ले कर आया तो मैने उसे देखा तो वो अपनी शॉर्ट का बटन खोल कर खुद को तन्ड़ा कर र्ही थी. मैं तो तक़्ब उसे देखता ही रह गया. मुज्जे तो कुछ साँझ न्ही आ रा था की ये सब क्या हो रा था.

और कहानिया   मेरी दीदी के सात चुदाई का सुख पाया फिर से

अब मैने उसे पानी का ग्लास दिया तो उसने पानी पी लिया और फिर मैं उसे ऐसे ही देखता रा.

वो – आप ऐसे क्या देख र्हे हो.

मैं – कुछ न्ही बस ऐसे ही. तुम्हारी गली बहोट सुंदर है.

वो – अछा गली सुंदर हैं तो और देखनी है क्या.

मैं भ8 हिम्मत करके बेशर्म हो कर बोल प्डा हंजी देखनी है तो तब उसने अपनी कमीज़ का बटन खोल दिया और मुझे अपने बूब्स क्र दर्शन क्राने लग गयइ. उसके बूब्स देख कर मैं तो जेसे पागल ही हो गया और फिर उसके बाद मैने उसे कमरे मे आने को खा तो वो ऐसे ही चुप छाप उठ कर आ गयइ.

अब जेसे ही रूम मे पहुँचे तो मैने उसके होंठो पर किस करनी शुरू करदी या तो ये कह दो की मैने उस पर हमला कार्डिया.

वो भी अब गरम हो गयइ थी और मैं तो पहले से ही गरम था और तो और मेरा लंड भी खड़ा हुआ था.

मैने अब बिना किसी देरी के उसके कपड़े उतरने शुरू करिए और फिर उसके बाद मैने उसके बूवस को चूसना शुरू कार्डिया. मैने जेसे ही उसके बूब्स चूसे तो वो पागल हो गयइ और फिर ऐसे ही मैं करता रा.

मुज्जे ये सब करने मे बहोट मज़ा आ रा था. और फिर उसके बाद मैने भी अपने कपड़े उतार दिए. उसने जेसे ही मूज़े नंगा देखा तो उसने मेरे लंड को हाथो मे ले लिया और पागलो की तरह उपर नीचे करने लग गयइ.

मुझे उसके ऐसे करने से बहोट अछा लग रा था और तो और फिर उसके बाद मैने अपने लंड को उसको मूह मे डालने को खा. तो उसने लंड को मूह मे ले लिया और बहोट ही मज़े से चूसने लग गयइ.

मुझे उसके मूह मे चुस्वते हुए ऐसा लग रा था जेसे की मेरा लंड छूट मे जा रा है. मैं तो बस ऐसे ही चुस्वाई जा रा था. अब मैने भी उसकी छूट पर हाथ रखा तो वो एक दम गीली पड़ि थी और पगल हो र्ही थी.

और कहानिया   कलेग ने ऑफिस में मेरे चुत से पानी निकला

ये देख कर मैं और पागल हो गया और मैने अपने लंड को उसक्र मूह से निकाला और फिर उसके बाद उसकी छूट पर आ गा. और फिर उसकी छूट को चाटने लग गया.

मुझे उसकी छूट बहोट ही अची लगी थी और पागलो की तराज मैं उसे चाटने मे लगा हुआ था. मेरे ऐसे करने मे उसे भी बहोट मज़ा आ रा था और वो भी मेरा मूह अपनी छूट मे घुसा जा र्ही थी. तो ये देख कफ मैने उसकी छूट मे उंगली डेडी और उसे छोड़ने लग गया.

अब जब काफ़ी देर तक ऐसे ही करता रा तो मैने अब अपने लंड को उसकी छूट पाट रख दिया और बड़ेभॉ पायर से उसके बूब्स चूसने और मसालने लग गया. मुज्जे ये सब करने मे मज़ा आ रा थबा और उस3 करने मे तो मैने अब बिना किसी देरी के लंड उसकी छूट मे डाल दिया और उसे छोड़ने लग गया.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares